Rahukaal Today/ 21 April 2017 (Delhi)-27 April 2017

  • Mon
  • Tue
  • Wed
  • Thu
  • Fri
  • Sat
  • Sun
Rahukaal Today
10:41:00 - 12:19:00

8:31:22 - 9:51:45
Rahukaal Today
9:02:30 - 10:40:45

7:14:52 - 8:58:45
Rahukaal Today
17:14:30 - 18:53:00

12:19:30 - 13:57:22
Rahukaal Today
7:22:37 - 9:01:15

13:57:37 - 15:35:45
Rahukaal Today
15:36:15 - 17:15:07

10:42:30 - 12:15:00
Rahukaal Today
12:18:00 - 13:57:00

9:10:30 - 10:42:45
Rahukaal Today
13:57:15 - 15:36:30

16:50:00 - 18:22:00
Raksha Bandhan
There are no translations available.

 

रक्षाबंधन भारतीय संस्कृति में कई उत्सव मनाये जाते है जिसमे रिश्तों की भूमिका बड़ी अहम होती है, अक्सर पारिवारिक लोग एक-जुट होकर उत्सव मनाते है | सम्पूर्ण भारत वर्ष में हिन्दुओं के प्रमुख त्योहारों में रक्षा बंधन का स्थान अहम है | रक्षाबंधन भाइयों और बहनों का एक विशेष त्यौहार है जो पूरे देश भर में मनाया जाता है यह त्योहार भाइयों और बहनों के बीच प्यार के बंधन को दर्शाता है | रक्षाबंधन के दिन भाई बहन एक दूसरे के स्वास्थ के लिए प्रार्थना करते है | ' रक्षाबंधन ' शब्द का शाब्दिक अर्थ 'रक्षा करने का वादा ' है |

जब एक बहन उसके भाई के हाथ पर राखी बांधती है ,तब भाई जीवनभर उसकी रक्षा करने और सभी हानियों तथा समस्याओं से बचाने के लिए वादा करता है | आमतौर पर यह उत्सव अगस्त के महीने में मनाया जाता है |


रक्षाबंधन का महत्सव  

इस महोत्सव को लोकप्रिय बनाने में श्री रविंद्रनाथ टैगोर जी का सर्वश्रेष्ठ योगदान है | उन्होंने इस त्योहार को जाति और धर्म के भेद-भाव से मुक्त करने के लिए , लोगों में एकता की भावना को प्रोत्साहित किया था |यह दिन भाई और बहनों के एक त्योहार के रूप में मनाया जाता है | लेकिन आज पूरा परिदृश्य बदल गया है |

अब लोग राखी का त्योहार अपने पड़ोसियों और दोस्तों के प्रति प्यार व्यक्त करने के लिए और जीवन भर एक शांतिपूर्ण रिश्ता बनाये देने के लिए जाना जाता है |


रक्षाबंधन का महत्व

 उत्तर भारत में इस समारोह को राखी के नाम से जाना जाता है | प्राचीन भारत में , पत्नियां अपने पतियों को सभी समस्याओं और कठिनाइयों से बचाने के लिए उनकी कलाई पर राखी बांधती थी ,धीरे-धीरे बुराई और समस्याओं से रक्षा करने के लिए अपने भाई के हाथ पर बांधना शुरू कर दिया |राखी बांधने  के साथ 'पूजा' भी की जाती है  और भाइयों के माथे पर कुमकुम लगाया जाता है |

बहने अपने भाइयों से आशीर्वाद के रूप में  राखी बांधने के बदले उपहार भी मांगती है | राखी या धागा बाँघने का अभ्यास भारत में सदियों से मनाया जा रहा है | और किसी अन्य देश में इस समारोह को इतनी भव्यता के साथ नहीं मनाया जाता है | इस त्योहार से सम्बंधित सारा इतिहास प्राचीन है जो हमेशा एकता ,शांति और सद्भाव का सन्देश फैलाने का प्रतीक रहेगा |

 

राशिनुसार बांधें भाई को राखी

  

राखी बहन की रक्षा का वचन होता है कि जब-जब बहन पर संकट के बादल हों, तब-तब भाई यथा संभव उसकी रक्षा करें।

मेष, वृश्चिक राशि वाले भाई को लाल रंग के धागे वाली वृषभ व  तुला राशि वाले भाई को सफेद चमकीले धागे वाली राखी बांधना चाहिए।

मिथुन, कन्या राशि वाले भाई को हरे रंग के धागे वाली  कर्क राशि वाले भाई को सफेद रंग वाले धागे की, सिंह राशि वाले भाई को गुलाबी रंग के धागे वाली राखी बांधना चाहिए।

धनु व मीन राशि वाले भाई को पीले, फालसाई रंग वाले धागे की राखी मकर व कुंभ राशि वाले भाई को नीले रंग के धागे वाली राखी बांधना चाहिए।

भाई भी बहन की राशि के अनुसार रंगों के गिफ्ट दे ।


http://www.youtube.com/watch?v=r6p71kjTaew

Share this post

Submit Raksha Bandhan in Delicious Submit Raksha Bandhan in Digg Submit Raksha Bandhan in FaceBook Submit Raksha Bandhan in Google Bookmarks Submit Raksha Bandhan in Stumbleupon Submit Raksha Bandhan in Technorati Submit Raksha Bandhan in Twitter